Trainning of IAS Officer | IAS Officer Trainning | LBSNAA

दोस्तों एक IAS Officer का Post काफी ज्यादा पावरफुल होता है ये बात तो आप सभी जानते होंगे लेकिन क्या आपको पता है कि  IAS Officer कि Tranning कहाँ होती है? आइएएस ऑफिसर ट्रेनिंग कैसी होती है?ट्रेनिंग के दौरान आइएएस ऑफिसर को कितनी सैलरी मीलती है?ट्रेनिंग के दौरान आइएएस ऑफिसर को कौन कौन से सब्जेक्ट पढ़ाए जाते हैं?

IAS OFFICER

इसके अलावा ट्रेनिंग के दौरान IAS Officer को कितने एग्जाम देने होते हैं और उन एग्जाम्स का मार्क्स पैटर्न कैसा होता है और क्या उन एग्जाम क्वालीफाई करना जरूरी होता है? इसके अलावा जब IAS Officer अपने ट्रैंनिंग पूरी कर लेते हैं तो उन्हें जो पहली पोस्ट मीलती है वह कौन सी मीलती है?

तो उसको अगर आपको इन सभी प्रश्नों के उत्तर चाहिए तो इस पूरे blog में आपको Trainning of IAS Officer उन सभी प्रश्नों के उत्तर मिल जाएंगे। तो दोस्तों इस Blog के साथ अंत तक बने रहिए। चलिए दोस्तों  शुरू करते हैं।

 

Trainning of IAS Officer

तो दोस्तों IAS Officer की ट्रैंनिंग LBSNAA ने में होती है जो कि उत्तराखंड के मसूरी में स्थित है। LBSNAA का पूरा नाम है लाल बहादुर शास्त्री नेशनल अकैडमी ऑफ ऐड्मिनिस्ट्रेशन।यह अकैडमी लगभग 190 एकड़ में फैला हुआ है। इस अकैडमी में ट्रेनिंग के दौरान IAS Officer को ओटिस कहा जाता है यानी ऑफिसर ट्रेनिंग।

 

ट्रेनिंग के दौरान IAS Officer को कौन कौन से सब्जेक्ट पढ़ाए जाते हैं?

IAS Officer की ट्रैंनिंग कुल पांच फेसेस में होती है। सबसे पहले फाउंडेशन कोर्स होता है, उसके बाद Phase-1 वन की ट्रेनिंग स्टार्ट होती है। Phase-1 के बाद District Trainning होती है और District Trainning  के बाद।Phase-2 ट्रेनिंग होती है| और सबसे अंत में Assistant Secretary Ship होती है।

 

Trainning के दौरान IAS Training Salary  कितनी  मीलती है?

फाउंडेशन कोर्स शुरू होने के एक महीने बाद से सभी ऑफिसर Traniee को सैलरी मिलनी शुरू हो जाती है। ये सैलरी 7th pay कमिशन के हिसाब से 56,100 होती है। हालांकि ऑफिसर Traniee की इसी सैलरी में से हर महीने ₹10,000 में चार्जेस और एस्टब्लिशमेंट चार्जेस के रूप में काटा जाता है।

 

ट्रेनिंग के दौरान IAS Officer को कितने एग्जाम देने होते हैं ?

क्लासेस के दौरान ऑफिसर्स को कई तरह के सब्जेक्ट पढ़ाए जाते हैं जिनमें की पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन लॉ, इकोनॉमिक मैनेजमेंट एंड साइंस, पॉलिटिकल कॉन्सेप्ट, कॉन्स्टिट्यूशन ऑफ इंडिया।और इंडियन हिस्टरी और कल्चर जैसे सब्जेक्ट होते हैं। इसके अलावा आईसीटी की क्लास होती है आईसीटी यानी इन्फॉर्मेशन कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी। इसमें ओटीस को , कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज दी जाती है।इसके अलावा एक लैंग्वेज पेपर की भी क्लास होती है।

इसके अलावा अकैडमी में ऑफिसर ट्रेनिंग के इन सब्जेक्ट के एग्जाम भी होते हैं। सबसे पहले मिड टर्म एग्जाम होता है जो की अक्टूबर एंड में होता है। यह मिड टर्म एग्जाम सब्जेक्टिव टाइप होता है। एग्जाम क्वालीफाई करने के बाद| ट्रेनिंग फाउंडेशन कोर्स के फाइनल एग्ज़ाम के लिए एलिजिबल होते हैं।फाइनल एग्ज़ाम दिसंबर के शुरुआत में होता है।

फाउंडेशन कोर्स फाइनल एग्जाम का मार्क्स पैटर्न कुछ इस प्रकार है :-

  1. 1.Foundation ourse

Trainning of IAS Officer | IAS Officer Trainning | LBSNAA

2. Phase -1 Exam Pattern

 

Trainning of IAS Officer | IAS Officer Trainning | LBSNAA

 

3. District Trainning  (जिला प्रशिक्षण)

जिला प्रशिक्षण एक पूरे वर्ष का प्रशिक्षण कार्यक्रम है। प्रशिक्षण जिला स्तर पर दिया जाता है। अधिकारी किसी विशेष जिले का हिस्सा बन जाते हैं और उनके प्रशासनिक ढांचे का अध्ययन करते हैं।

 

4. Phase-2

फेज-1 को पास कर फेज-2 में पहुंचा एक आईएएस अफसर इसका मतलब है कि उन्होंने एक साल के लिए सभी तरह के प्रशिक्षण और केस स्टडीज की हैं। अब उनके पास सहकर्मियों के साथ बातचीत करने और चरण -1 से अपने अनुभव साझा करने का मौका है। यह एक समूह अध्ययन है जहां सभी परिवीक्षार्थी विभिन्न प्रशासनिक व्यवस्थाओं में अपने अनुभवों, चुनौतियों और उन्हें कैसे हल करते हैं, इस पर चर्चा करते हैं।

यह एक दूसरे के परिदृश्यों को सुनकर अनुभव प्राप्त करने का एक दिलचस्प तरीका है। इसे ग्रुप स्टडी या केस स्टडी माना जाता है। यह कार्यक्रम विभिन्न अनुभवों के माध्यम से सीखकर विकास में मदद करता है।

 

5. Assistant Secretary Ship  (सहायक सचिव पद)

Phase -2 चर्चा और प्रेरण सत्र पूरा करने के बाद, आईएएस परिवीक्षाधीनों को उनके संबंधित प्रतिनियुक्ति पर भेजा जाता है। अब वे वास्तविक जीवन के सितारे हैं क्योंकि अब उन्हें व्यावहारिक रूप से अगले कुछ महीनों तक मंत्रालयों में संयुक्त सचिव के अधीन काम करना है। यह ऑन-द-जॉब प्रशिक्षण है जहां उन्हें व्यावहारिक कार्य का ज्ञान मिलेगा।

 

Training Period Of IAS Officer

आईएएस अधिकारी पाठ्यक्रम 26 सप्ताह के लिए है। दिन की शुरुआत सुबह 6 बजे होती है। प्रशिक्षु पोलो मैदान में 60 मिनट तक व्यायाम करने के लिए एकत्रित होते हैं। अभ्यास के बाद, अधिकारियों को अपने कमरे में लौटने और अपने सुबह के सत्र के लिए तैयार होने के लिए आधे घंटे का समय दिया जाता है। सुबह का सत्र सुबह 9.30 बजे शुरू होता है।

सुबह के सत्र को आमतौर पर 5 से 6 खंडों में विभाजित किया जाता है जो दोपहर के भोजन से पहले निर्धारित होते हैं। इसके अलावा, सामाजिक, आर्थिक, राजनीति विज्ञान, कानून, आईसीटी, आदि जैसे विभिन्न पाठ्यक्रम हैं। शाम के समय, आईएएस परिवीक्षाधीनों को पाठ्येतर गतिविधियों के लिए इकट्ठा होना चाहिए। आनंद के लिए, रात के खाने से पहले कुछ सांस्कृतिक गतिविधियां आयोजित की जाती हैं |

यह भी पढ़ें

1. UPSC Civil Service 2022नौकरी जल्द ही करे APPLY

2. एक आईएएस अधिकारी कैसे बनें?

FAQ

1.What is the training period of IAS officer?

ANS- 26 सप्ताह |

2. Do IAS officers get salary during training?

ANS- Yes |

3. Is there any physical training for IAS?

Ans – yes |

4. Where do IAS get training?

Ans- Uttrakhand Masoori LBSNAA |

< >

2 thoughts on “Trainning of IAS Officer | IAS Officer Trainning | LBSNAA

Leave a Reply

Your email address will not be published.